Thursday, February 3, 2011

शेयर खाता खोल सजनियाँ 9

पक्षी मोर हमारा प्यारा राजनीति ही राष्ट्रधर्म है
शेर हमारा राष्ट्र-जानवर शेयर अपना राष्ट्र-कर्म है
राष्ट्र-कर्म में शेयर लेना,जैसे भी हो शेयर लेना।
एक साल में एक दिवाली एक दिवस होली का आता
पर हर रोज़ दिवाली होती,अगर हाथ में शेयर आता
खुली लाटरी जाकर लेना जैसे भी हो शेयर लेना।
जोड़-तोड़ में तुम लग जाओ जब भी पाओ लेलो इसको
ये नायाब सभी होते हैं, टाटा-बिरला-बाटा -टिस्को
फारम फ़ौरन भर कर लेना जैसे भी हो शेयर लेना।
लक्ष्मी-मैया के साये में तेजड़िया सी तेज़ी आये
बिन शेयर कोई ना पूछे मंदड़िया सी सुस्ती छाये
सपने सात संजो कर लेना,जैसे भी हो शेयर लेना।

No comments:

Post a Comment

सेज गगन में चाँद की [24]

कुछ झिझकती सकुचाती धरा कोठरी में दबे पाँव घूम कर यहाँ-वहां रखे सामान को देखने लगी। उसकी नज़र सोते हुए नीलाम्बर पर ठहर नहीं पा रही थी। उसके ...

Lokpriy ...