Friday, February 4, 2011

शेयर खाता खोल सजनियाँ 11

इनकम तेरी अगर बढ़ी तो आ जायेंगे कर अधिकारी
रेशम पर खादी धर लेना कहलायेगा तू सुविचारी
भाषण खूब पिलाकर लेना जैसे भी हो शेयर लेना।
अबके फागुन में बीबी के गाल अबीर-गुलाल लगाना
सच्ची उस से प्रीत निभाकर उसके नाम पे माल लगाना
शेयर है ये जेवर लेना, जैसे भी हो शेयर लेना।
बीमा का कीमा बन जाता माल तिजोरी में गल जाता
लेकिन शेयर में जो डाला सात पीढ़ियों को फल जाता
है ये बात बराबर लेना, जैसे भी हो शेयर लेना।
जीवन साथी जिसे बनाया उसको लेदो भैया शेयर
फिर देखो कैसी खिल जाती कर के देखो शैया शेयर
हनीमून से तेवर लेना, जैसे भी हो शेयर लेना।

No comments:

Post a Comment

सेज गगन में चाँद की [24]

कुछ झिझकती सकुचाती धरा कोठरी में दबे पाँव घूम कर यहाँ-वहां रखे सामान को देखने लगी। उसकी नज़र सोते हुए नीलाम्बर पर ठहर नहीं पा रही थी। उसके ...

Lokpriy ...