Sunday, January 13, 2013

चुस्त भूरी लोमड़ी सुस्त कुत्ते पर कूदती है।

निसंदेह यदि कुत्ता सुस्त होगा तो लोमड़ी क्या,बिल्ली भी उस पर झपट्टा मार देगी। आलसी कुत्ते से चिड़िया भी नहीं डरती, लोमड़ी की तो बात ही क्या? और यदि लोमड़ी चुस्त है, तो वह कुत्ता क्या, शेर को भी नहीं बख्शेगी। सफ़ेद लोमड़ी थोड़ी आभिजात्य मानी जाती है, वह डरपोक नहीं होती, थोड़ी शर्मीली होती है, इसलिए वह कुत्ते के आलसी होने का कोई फायदा नहीं उठाएगी। यदि लोमड़ी भूरी है, तो वह कुत्ते को छठी का दूध याद दिला देगी।
आमतौर पर लोमड़ी सुस्त नहीं होती। वह बेहद चपला ही होती है। कई बार कुत्ते भी फुर्तीले और चालाक होते हैं। पर वह आलसी भी होते हैं। ख़ास कर तब, जब उन्हें भर-पेट भोजन मिल जाए। कुत्ते इंसानों के पालतू भी होते हैं। इसीलिए कभी-कभी उन्हें इंसानों की तरह मुफ्त की रोटी भी मिल जाती है। और इसीलिए वे इंसानों की तरह आलसी भी हो जाते हैं।
लोमड़ी कभी इंसानों की पालतू नहीं होती। यदि "ज़ू" उन्हें रखते भी हैं, तो पालतू बना कर नहीं रखते। ये शुद्ध व्यावसायिक व्यवस्था होती है। 'चिड़ियाघर' वाले प्राणियों से पैसे कमाते हैं, बदले में उन्हें खाना देते हैं।लोमड़ी के साथ किसी का कुत्ते जैसा रिश्ता नहीं होता। जबकि कुत्तों के साथ आदमी का संवेदनशील सरोकार भी हो सकता है। कुत्ते जैसी स्वामी-भक्ति लोमड़ी में नहीं होती। यही कारण है, कि चुस्त भूरी लोमड़ी सुस्त कुत्ते पर कूदती है। "THE QUICK BROWN FOX JUMPS OVER THE LAZY DOG"
यह बात शतप्रतिशत सच है, विश्वास न हो तो चैक कर लीजिये। इसमें इंग्लिश का एक भी अक्षर [एल्फ़ाबैट]मिसिंग नहीं है। है न खरी बात?    

8 comments:

  1. बहुत सही कहा आपने

    ReplyDelete
  2. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार 15/1/13 को चर्चा मंच पर राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आपका वहां हार्दिक स्वागत है

    ReplyDelete
  3. "THE QUICK BROWN FOX JUMPS OVER THE LAZY DOG"
    यह लाइन हमने इंग्लिश टाइपिंग सीखते समय खूब टाइप की थी. A से Z तक सभी इसमें है ..
    बहुत खूब सीख भरी कहानी ...बहुत सुन्दर प्रस्तुति ..

    ReplyDelete
  4. Great Blog my friend, congratulations and many greetings from:
    http://heroes-de-accion.blogspot.com/

    ReplyDelete

  5. बहुत सही कहा आपने .

    ReplyDelete

प्राथमिक उपचार है तुष्टिकरण

यदि दो बच्चे आपस में झगड़ रहे हों और उनमें से एक अपने को कमज़ोर पा कर रो पड़े तो हम उनमें फिर से बराबरी की भावना जगाने के लिए एक का तात्कालिक ...

Lokpriy ...