Sunday, April 9, 2017

प्राथमिक उपचार है तुष्टिकरण

यदि दो बच्चे आपस में झगड़ रहे हों और उनमें से एक अपने को कमज़ोर पा कर रो पड़े तो हम उनमें फिर से बराबरी की भावना जगाने के लिए एक का तात्कालिक पक्ष ले सकते हैं। किन्तु यदि ऐसा व्यवहार हमने सदा के लिए कर दिया तो भविष्य में उन दोनों को दुश्मन और हमें बेवकूफ़ बनने से कोई नहीं रोक सकता।
दुःख है कि एक देश के रूप में हमने ऐसा कर लिया है।    

Thursday, April 6, 2017

वे क्या कहते हैं संयुक्त परिवार के बारे में !

वे कहते  हैं कि संयुक्त परिवार भारतीय समाज की विशेषता नहीं बल्कि मजबूरी है। यहाँ पर परिवार का कोई भी एक सदस्य आत्म निर्भरता के लिए शिक्षित-प्रशिक्षित नहीं है। कोई धनार्जन के लिए अशिक्षित है, कोई शारीरिक श्रम के लिए अक्षम या अनभ्यस्त है तो कोई घरेलू कामकाज में शून्य है। वे तभी रह सकते हैं जब वे मिलजुल कर रहें। यहाँ हज़ारों कमाने वाला नहाने के बाद तौलिया या जुराबें नहीं ढूंढ सकता। दस लोगों की रोटी बनाने वाली अकेले बाजार जाकर राशन-सब्ज़ी नहीं ला सकती। दिनरात बैठ कर हुक्का गुड़गुड़ाने वाला एक कप चाय नहीं बना सकता। वे जो कुछ कर सकते हैं उसमें भी अंध मान्यताओं की बेड़ियों में खुद को जकड़े पड़े हैं।
     

Sunday, March 5, 2017

Some deserving ones for...No. 1

देश जल्दी ही एक नए राष्ट्रपति का नेतृत्व पाने को है। कहना पड़ता है कि राजनैतिक दलों का आपसी वैमनस्य और कटुता असहनीय होने की हद तक गिर चुके हैं। नैतिकता की कौन कहे,वैचारिकता तक संदिग्ध है।  ऐसे में नए राष्ट्रपति की मर्यादा और गरिमा तभी बनी रह सकेगी जबकि वह-
प्रत्यक्ष रूप से किसी राजनैतिक दल से न हो।
जनता में उसकी स्वीकार्यता जबरदस्त हो।
उसने जीवन में निष्पक्षता के मानकों का सम्मान किया हो।
वह जन-जन से तादात्म्य स्थापित कर पाने की क्षमता रखता हो।
उसने कर्मठता,सक्रियता और संस्कार पालन का सहज निर्वाह किया हो।
उसके पास जो भी धन-दौलत हो वह उसका अपना अर्जन हो, उसने प्रजा से छीना न हो, बल्कि जनता ने खुद आगे बढ़ कर उस पर लुटाया हो।
Some deserving ones for Rashtrapati Bhavan's vacancy on 25th July 2017 : Number 1 [One] : Amitabh Bachchan   
     

Friday, March 3, 2017

Presidents of India -

यदि लोकप्रियता, परिपक्वता,गरिमा,पहल और प्रभाव को सम्मिलित रूप से आधार बनाया जाए तो भारत के राष्ट्रपतियों के कार्यकाल के आधार पर उनकी स्थिति [रैंकिंग] इस प्रकार निकलती है-
१. डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम
२. डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन
३. डॉ राजेंद्र प्रसाद
४. डॉ ज़ाकिर हुसैन
५. श्री प्रणव मुखर्जी
६. श्री आर वेंकटरमण
७. डॉ शंकर दयाल शर्मा
८. श्री वी वी गिरी
९. श्रीमती प्रतिभा पाटील
१०. श्री के आर नारायण
११. श्री फखरुद्दीन अली अहमद
१२. ज्ञानी ज़ैल सिंह
१३. श्री नीलम संजीव रेड्डी
[इनके अतिरिक्त श्री एम हिदायतुल्ला और श्री बी डी जत्ती अल्पकाल के लिए कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे] 

Presidents of India- Impact

देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर पहुंचे इन शिखर व्यक्तित्वों ने तुलनात्मक रूप से जनमानस पर कैसा प्रभाव छोड़ा, आइये जानते हैं-
1. डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम
2. डॉ राधाकृष्णन
3. डॉ राजेंद्र प्रसाद
4. डॉ ज़ाक़िर हुसैन
5. श्री आर वेंकटरमण और श्री प्रणव मुखर्जी संयुक्त रूप से
6. श्री वी वी गिरी, श्री के आर नारायण और डॉ शंकर दयाल शर्मा सम्मिलित रूप से
7. श्री फखरुद्दीन अली अहमद और श्रीमती प्रतिभा पाटील संयुक्त रूप से
8. ज्ञानी ज़ैल सिंह और श्री नीलम संजीव रेड्डी संयुक्त रूप से 

Presidents of India- Initiatives

देश के राष्ट्रपतियों द्वारा की गयी पहल की प्रवृत्ति का मूल्याङ्कन इस तरह किया गया-
1. डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम
2. डॉ राजेंद्र प्रसाद
3. डॉ राधाकृष्णन और श्री वी वी गिरी संयुक्त रूप से
4. डॉ ज़ाकिर हुसैन
5. श्री प्रणव मुखर्जी
6. श्री आर वेंकटरमण,डॉ शंकर दयाल शर्मा और श्रीमती प्रतिभा पाटील सम्मिलित रूप से
7. श्री के आर नारायण
8. श्री फखरुद्दीन अली अहमद,ज्ञानी ज़ैल सिंह और श्री नीलम संजीव रेड्डी सम्मिलित रूप से  

Presidents of India- Personality

क्या आप जानना चाहेंगे व्यक्तित्व के मानक पर पूर्ववर्ती राष्ट्रपतियों को कैसे आँका गया?-
1. डॉ राधाकृष्णन और डॉ ज़ाकिर हुसैन संयुक्त रूप से
2. डॉ राजेंद्र प्रसाद और डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम को संयुक्त रूप से
3. श्री प्रणब मुखर्जी
4. श्री आर वेंकटरमण, डॉ शंकर दयाल शर्मा और श्रीमती प्रतिभा पाटील सम्मिलित रूप से
5. श्री वी वी गिरी और श्री के आर नारायण संयुक्त रूप से
6. श्री फखरुद्दीन अली अहमद, ज्ञानी ज़ैल सिंह और श्री नीलम संजीव रेड्डी सम्मिलित रूप से   

प्राथमिक उपचार है तुष्टिकरण

यदि दो बच्चे आपस में झगड़ रहे हों और उनमें से एक अपने को कमज़ोर पा कर रो पड़े तो हम उनमें फिर से बराबरी की भावना जगाने के लिए एक का तात्कालिक ...

Lokpriy ...