Monday, February 7, 2011

शेयर खाता खोल सजनिया 17

राजनीति में शेयर लेकर हीरो हो जाता है जीरो
पर शेयर में शेयर लेकर जीरो हो जाता है हीरो
है ये सबक समझ कर लेना,जैसे भी हो शेयर लेना।
सूरज निगला पवनपुत्र ने तीनो लोक हुआ अँधियारा
शेयर जब हर्षद ने निगला चारों ओर हुआ उजियारा
ऐसी जोत जगा कर लेना,जैसे भी हो शेयर लेना।
मरता कोई शेयर वाला समां बंधे तब मेले वाला
परिजन दुःख में भी पहनाते अर्थी को नोटों की माला
ऐसा गौरव मर कर लेना,जैसे भी हो शेयर लेना।
मर कर जब ऊपर जाता है जो प्राणी हो शेयर-धारी
अगवानी को यम खुद आये,स्वर्ग-व्यवस्था सब हो न्यारी
फिर क्यों ना ये फेवर लेना,जैसे भी हो शेयर लेना।

No comments:

Post a Comment

सेज गगन में चाँद की [24]

कुछ झिझकती सकुचाती धरा कोठरी में दबे पाँव घूम कर यहाँ-वहां रखे सामान को देखने लगी। उसकी नज़र सोते हुए नीलाम्बर पर ठहर नहीं पा रही थी। उसके ...

Lokpriy ...