Wednesday, October 10, 2012

अमिताभ-अमिताभ-अमिताभ

    "एक था चंदर, एक थी सुधा" शायद हिंदी फिल्मों की सबसे खराब नियति का शिकार हुई।इसे धर्मवीर भारती ने 'गुनाहों का देवता' के रूप में लिखा था, इसे अमिताभ बच्चन और जया भादुड़ी ने अभिनीत किया था, लेकिन यह दर्शकों को देखने के लिए नहीं मिली।
   कहते हैं, कि  किसी के जन्मदिन पर उसकी अधूरी उपलब्धियों को याद करो तो उसकी उम्र और बढ़ जाती है। अमिताभ शतायु हों!

2 comments:

  1. उनको जन्मदिन की हार्दिक बधाई...वे जीए हजारों साल|

    ReplyDelete

सेज गगन में चाँद की [24]

कुछ झिझकती सकुचाती धरा कोठरी में दबे पाँव घूम कर यहाँ-वहां रखे सामान को देखने लगी। उसकी नज़र सोते हुए नीलाम्बर पर ठहर नहीं पा रही थी। उसके ...

Lokpriy ...