Friday, May 23, 2014

"शपथ-ग्रहण का खर्चा"

शेर बना जंगल का राजा
शपथ-ग्रहण का फंक्शन
न्यौता भेजा- "कोयल दीदी
आएं  ऑर्केस्ट्रा - संग"


पूछा खर्चा, बोलीं -"देंगे
मेरे लोग गली के
पांच रूपये दे देना तुम तो
'फेयर-एन-लवली' के।"    

2 comments:

  1. सुन्दर गुदगुदाती बालकविता

    ReplyDelete

सेज गगन में चाँद की [24]

कुछ झिझकती सकुचाती धरा कोठरी में दबे पाँव घूम कर यहाँ-वहां रखे सामान को देखने लगी। उसकी नज़र सोते हुए नीलाम्बर पर ठहर नहीं पा रही थी। उसके ...

Lokpriy ...