Friday, May 23, 2014

"शपथ-ग्रहण का खर्चा"

शेर बना जंगल का राजा
शपथ-ग्रहण का फंक्शन
न्यौता भेजा- "कोयल दीदी
आएं  ऑर्केस्ट्रा - संग"


पूछा खर्चा, बोलीं -"देंगे
मेरे लोग गली के
पांच रूपये दे देना तुम तो
'फेयर-एन-लवली' के।"    

2 comments:

  1. सुन्दर गुदगुदाती बालकविता

    ReplyDelete

प्राथमिक उपचार है तुष्टिकरण

यदि दो बच्चे आपस में झगड़ रहे हों और उनमें से एक अपने को कमज़ोर पा कर रो पड़े तो हम उनमें फिर से बराबरी की भावना जगाने के लिए एक का तात्कालिक ...

Lokpriy ...