Sunday, February 24, 2013

सूरज बड़ा क्यों है

कल कुछ देर एक ऐसे समारोह में बैठने का अवसर मिला जहाँ कई बड़े-बड़े विद्वान, लेखक, साहित्यकार और चिन्तक मौजूद थे. वहां किसी सन्दर्भ में यह सवाल उठा कि  जयपुर में आयोजित होने वाला लिटरेचर फेस्टिवल समाज के लिए कितना उपयोगी है? प्रश्न उठाने वाले विचारकों का कहना था कि इस फेस्टिवल को क्योंकि कई बड़ी-बड़ी मल्टी नेशनल कम्पनियां प्रायोजित करती हैं, अतः यह स्थानीय संस्कृति के अनुकूल नहीं होता.
वहीँ कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे राज्य के मुख्यमंत्री ने कहा कि जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल दुनिया भर में अत्यंत लोकप्रिय होता जा रहा है, और इसे पसंद करने वालों की बहुत बड़ी संख्या है, तो सोचिये, कि  आपको ऐसा क्यों लगता है.
यदि कोई बड़ी संस्था किसी आयोजन को सहायता देती है तो इससे आयोजन की श्रेष्ठता या व्यर्थता का कितना सम्बन्ध है? आप भी सोचिये.   

1 comment:

  1. BlogVarta.com पहला हिंदी ब्लोग्गेर्स का मंच है जो ब्लॉग एग्रेगेटर के साथ साथ हिंदी कम्युनिटी वेबसाइट भी है! आज ही सदस्य बनें और अपना ब्लॉग जोड़ें!

    धन्यवाद
    www.blogvarta.com

    ReplyDelete

Some deserving ones for...No. 1

देश जल्दी ही एक नए राष्ट्रपति का नेतृत्व पाने को है। कहना पड़ता है कि राजनैतिक दलों का आपसी वैमनस्य और कटुता असहनीय होने की हद तक गिर चुके ह...

Lokpriy ...