Sunday, February 5, 2012

किस-किस बात पर गर्व किया जा सकता है

हम किसी भी धर्म के मानने वाले हों, किसी  भी जाति के हों,किसी भी देश में रहते हों, ऐसी कौन-कौन सी बातें हैं जिन पर हम गर्व कर सकते हैं?
हम हर उस व्यक्ति पर गर्व कर सकते हैं जो अच्छा गाता हो.
हम हर उस इंसान पर भी गर्व कर सकते हैं जो बेहतर नाच सके. 
अच्छा अभिनय भी गर्व करने की चीज़ है. 
किसी भी विषय को अच्छी तरह पढ़ने वाले तो हैं ही गर्व करने योग्य.
अच्छे खिलाड़ियों पर भला किसे गर्व न होगा?
अच्छे व्यापारी,अच्छे अधिकारी,अच्छे कर्मचारी,अच्छे वकील-डाक्टर-इंजिनियर पर कोई भी गर्व करेगा. 
अच्छे शिक्षक किसे अच्छे नहीं लगेंगे?
अच्छे नेता को तो लोग पूजते हैं. 
अच्छा चित्रकार-मूर्तिकार या वाहन चालक समाज के लिए धरोहर ही है. 
अच्छा भोजन बनाने वाला और घरेलू काम करने वाला किसे पसंद नहीं आएगा? 
अच्छा बैंकर क्या कोई कम अच्छा है?
इतने विकल्प कोई कम नहीं होते. फिर भी इन सब विकल्पों के पार जाकर हर समाज, देश या घर में जब कुछ लोग ऐसे निकल ही आते हैं जो गर्व करने लायक नहीं होते, तो मन खट्टा हो जाता है. खटास का कोई इलाज है?     

2 comments:

  1. sabhi achche ho jaayen to achche aur bure ka fark kaise ho.

    ReplyDelete
  2. aapne bahut thik kaha. par shayad aaj zyadatar log yahi soch kar baithe hain.kahin doodh se talaab bharne ki koshish talaab ko pani se n bharde. dhanywad,pratikriya ke liye.

    ReplyDelete

सेज गगन में चाँद की [24]

कुछ झिझकती सकुचाती धरा कोठरी में दबे पाँव घूम कर यहाँ-वहां रखे सामान को देखने लगी। उसकी नज़र सोते हुए नीलाम्बर पर ठहर नहीं पा रही थी। उसके ...

Lokpriy ...