Sunday, June 24, 2012

व्हेल वाच

    

1 comment:

  1. राजधानी में पैदा हुई तो रिटायरमैंट तक राजधानी में ही रहना पड़ेगा। खुशी की बात है कि शिक्षा विभाग में हैं, सेना में होते तो दुश्मन को डिज़ायर भेजते कि युद्ध लड़ना है ततो राजधानी में लड़ो, हम सीमा तक जाने वालों में नहीं।

    ReplyDelete

सेज गगन में चाँद की [24]

कुछ झिझकती सकुचाती धरा कोठरी में दबे पाँव घूम कर यहाँ-वहां रखे सामान को देखने लगी। उसकी नज़र सोते हुए नीलाम्बर पर ठहर नहीं पा रही थी। उसके ...

Lokpriy ...