Tuesday, July 29, 2014

वे हिंदी का विरोध इसलिए करते हैं


2 comments:

  1. हिंदी को मान देने की दिशा में काम कम और बातें ज़्यादा हुईं हैं अब तक....

    ReplyDelete
  2. Jee, aapki baat shat-pratishat sahi hai, unhen yahi bahana mil jata hai ki pahle 'kaam' ho.Sthiti vahi banti hai ki tairna aaye to pani me utren, Pani me utren to tairna aaye! Dhanyawad.In sabhi baaton ke jawab bhi aap sheeghra padhenge.

    ReplyDelete

प्राथमिक उपचार है तुष्टिकरण

यदि दो बच्चे आपस में झगड़ रहे हों और उनमें से एक अपने को कमज़ोर पा कर रो पड़े तो हम उनमें फिर से बराबरी की भावना जगाने के लिए एक का तात्कालिक ...

Lokpriy ...