Friday, May 25, 2012

आपसे  बातचीत  के 500 लम्हे ...अर्थात  पांच  सौवीं  पोस्ट ...उन  सभी  को  धन्यवाद  जिन्होंने  इस  ब्लॉग  के  झरोखे  से  कभी  न  कभी  झाँक  कर   मेरी हौसला-अफज़ाई  की ...

1 comment:

  1. फ़्रिल-फ़्री, विशुद्ध कंटॆण्ट वाले ब्लॉग्स में आपका ब्लॉग एक विशिष्ट स्थान रखता है। 500 प्रविष्टियों का सफ़र मुबारक हो। ऐसी और अनगिनत प्रविष्टियों की शुभकामनायें!

    ReplyDelete

Some deserving ones for...No. 1

देश जल्दी ही एक नए राष्ट्रपति का नेतृत्व पाने को है। कहना पड़ता है कि राजनैतिक दलों का आपसी वैमनस्य और कटुता असहनीय होने की हद तक गिर चुके ह...

Lokpriy ...