Wednesday, May 16, 2012

एक सुनहरा सेब उगा है दीपक मित्तल के दिमाग के बाग़ में

आज  एक  विज्ञापन  में  पढ़ा  कि   श्री  दीपक  मित्तल  राजस्थान  विधान-सभा  के  अगले  चुनाव  में  सभी  200  सीटों  पर  "ईमानदार"  उम्मीदवारों  को  चुनाव  लडवाना  चाहते  हैं,   ताकि  देश  से  भ्रष्टाचार,  आरक्षण , और अपराध  जैसी  बीमारियाँ  मिट  सकें।  उन्होंने  अन्ना  समर्थकों  और  ऐसी  ही  विचारधारा  वाले  लोगों  का  आह्वान  किया  है  कि   वे  आगे  आयें,  ताकि  दिसंबर  तक  सभी  उम्मीदवारों  के  नाम  की  घोषणा  की  जा  सके।  उनके  अनुसार  इस से  उम्मीदवारों  को  अपने  प्रचार  और  अन्य  तैय्यारी  के  लिए  पर्याप्त  समय  भी  मिल  जायेगा।  
यह  एक  अच्छा  विचार  है।  एक  सुनहरा  जादुई  सेब  उनके  मानस-बाग़  में  उगा  है।  इसके  खाने  से  बीमार  देश  स्वास्थ्य-लाभ  कर  सके,  तो  यह  एक  चमत्कार  ही  होगा।  
चमत्कार  भी  होते  ही  हैं ...

No comments:

Post a Comment

सेज गगन में चाँद की [24]

कुछ झिझकती सकुचाती धरा कोठरी में दबे पाँव घूम कर यहाँ-वहां रखे सामान को देखने लगी। उसकी नज़र सोते हुए नीलाम्बर पर ठहर नहीं पा रही थी। उसके ...

Lokpriy ...