Tuesday, July 24, 2012

पच्चीस जुलाई

कल पच्चीस जुलाई है। वास्तव में अब से एक घंटे पैंतीस मिनट बाद ही पच्चीस जुलाई शुरू हो जाएगी। फिर पच्चीस घंटे और पैंतीस मिनट तक पच्चीस जुलाई ही रहेगी। पच्चीस जुलाई हर साल चौबीस जुलाई के बाद और छब्बीस जुलाई के पहले आती है। भारत में प्रायः पच्चीस जुलाई को राष्ट्रपति बदलते हैं, इस  बार भी पच्चीस जुलाई को प्रणव मुखर्जी राष्ट्रपति बन जायेंगे और प्रतिभा देवीसिंह पाटिल इस पद को त्याग देंगी। 

No comments:

Post a Comment

प्राथमिक उपचार है तुष्टिकरण

यदि दो बच्चे आपस में झगड़ रहे हों और उनमें से एक अपने को कमज़ोर पा कर रो पड़े तो हम उनमें फिर से बराबरी की भावना जगाने के लिए एक का तात्कालिक ...

Lokpriy ...