Tuesday, July 24, 2012

पच्चीस जुलाई

कल पच्चीस जुलाई है। वास्तव में अब से एक घंटे पैंतीस मिनट बाद ही पच्चीस जुलाई शुरू हो जाएगी। फिर पच्चीस घंटे और पैंतीस मिनट तक पच्चीस जुलाई ही रहेगी। पच्चीस जुलाई हर साल चौबीस जुलाई के बाद और छब्बीस जुलाई के पहले आती है। भारत में प्रायः पच्चीस जुलाई को राष्ट्रपति बदलते हैं, इस  बार भी पच्चीस जुलाई को प्रणव मुखर्जी राष्ट्रपति बन जायेंगे और प्रतिभा देवीसिंह पाटिल इस पद को त्याग देंगी। 

No comments:

Post a Comment

Some deserving ones for...No. 1

देश जल्दी ही एक नए राष्ट्रपति का नेतृत्व पाने को है। कहना पड़ता है कि राजनैतिक दलों का आपसी वैमनस्य और कटुता असहनीय होने की हद तक गिर चुके ह...

Lokpriy ...