Tuesday, August 16, 2011

आज़ादी पर्व के अवसर पर मिला देश की युवा पीढ़ी को अनमोल तोहफा,

राजस्थान के कुछ दुर्गम रेगिस्तानी इलाकों में बारह साल बाद जब बरसात हुई तो बारह साल से कम उम्र के बच्चों ने उसे हैरत और कोतुहल से देखा,ठीक इसी तरह १६ अगस्त को देश की युवा पीढ़ी ने इतिहास की वह फिल्म हकीकत में देखी जिसके बारे में वे किताबों में पढ़ते आये थे.जिसमे नायक सड़कों पे होते थे,खलनायक सरकारी किलों में , चरित्र अभिनेता  कैद में और हास्य अभिनेता सरकारी  "प्रेस कांफ्रेंस " में.

No comments:

Post a Comment

Some deserving ones for...No. 1

देश जल्दी ही एक नए राष्ट्रपति का नेतृत्व पाने को है। कहना पड़ता है कि राजनैतिक दलों का आपसी वैमनस्य और कटुता असहनीय होने की हद तक गिर चुके ह...

Lokpriy ...