Sunday, October 19, 2014

समाधान की समस्या

चूहों ने एक सभा की। कई अनुभवी चूहों ने भाषण दिए। एक अत्यंत बुजुर्ग चूहे ने कहा-"कानून का राज सबसे अच्छा होता है। कानून से सब डरते हैं, और अपराध नहीं करते।"
बात सभी को पसंद आई। आखिर सर्वसम्मति से कानून बनाया गया,कि अब से किसी चूहे को खाना कानूनन अपराध माना जायेगा, और इसके लिए उम्र कैद तक सजा हो सकेगी।
अब बेचारी बिल्ली को क्या मालूम, कानून क्या है, तो जैसे ही उसने झपट्टा मार कर एक चूहे को उदरस्थ किया, झट पुलिस आ गई। बिल्लीपर मुक़दमा चला और उसे जेल हो गई।
बिल्ली ने जेल में रोटी खाने से साफ़ इंकार कर दिया। प्राणी अधिकार आयोग के दबाव में आकर जेलर साहब को बिल्ली के लिए जेल में रोज सुबह-शाम चूहे परोसने की व्यवस्था करनी पड़ी।           

No comments:

Post a Comment

Some deserving ones for...No. 1

देश जल्दी ही एक नए राष्ट्रपति का नेतृत्व पाने को है। कहना पड़ता है कि राजनैतिक दलों का आपसी वैमनस्य और कटुता असहनीय होने की हद तक गिर चुके ह...

Lokpriy ...