Friday, June 14, 2013

अगर आपकी बात सब मान लें !

यह आजमाया हुआ नुस्खा है कि यदि किसी चीज़ को बाज़ार से गायब करना हो,तो केवल यह अफवाह उड़ा दो कि  यह गायब होने वाली है। लोग ऐसी अफवाह पर तुरंत ध्यान देकर धड़ाधड़ वह चीज़ खरीदते हैं और वह सचमुच बाज़ार से गायब हो जाती है।
चिदंबरम ने आज जनता से अपील की है कि वह फिलहाल सोना न खरीदे। उनका कहना है कि  जब लोग ज्यादा सोना खरीदते हैं, तो फिर सोने का विदेशों से आयात करना पड़ता है।जिसके लिए महंगा डॉलर देना पड़ता है, जो हमें और गरीब बनाता है।
लेकिन शायद वित्तमंत्री जी यह नहीं सोच पाए कि भारतवासी रूपये पैसे से अमीर-गरीब नहीं होते। उनकी भूख रोटी खाकर नहीं मिटती, बल्कि यह देख कर मिटती है कि गेंहू मिला कैसे? सोने को गले में पहन कर कोई अमीर नहीं बनता, बल्कि इस से तो और जान जोखिम में पड़ती है। अमीर तो लोग इसका भाव दूसरों को  बताने में होते हैं।
वैसे वित्तमंत्री देश को यह भी तो समझाएं कि  दूसरे लोग हमारा सोना लूट कर हमें गरीब बना गए, और हम उसे वापस "खरीद" कर भी गरीब ही कैसे होंगे? क्या नीतियां बना रखी हैं हमने? सोना न खरीद कर हम वह रुपया बचा लें जो दिनोंदिन कमज़ोर हो रहा है, और वह सोना न खरीदें, जो दिनोंदिन मज़बूत हो रहा है?   

6 comments:

  1. मंत्रियों पर देशसेवा का काफी भार है ... :)

    ReplyDelete
  2. एक अलग दृष्टिकोण

    ReplyDelete
  3. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  4. आपकी आपत्ति बिस्कुल सही है सर जब.....दूसरे लोग हमारा सोना लूट कर हमें गरीब
    बना गए, और हम उसे वापस "खरीद" कर
    भी गरीब ही कैसे होंगे? ....

    ReplyDelete

प्राथमिक उपचार है तुष्टिकरण

यदि दो बच्चे आपस में झगड़ रहे हों और उनमें से एक अपने को कमज़ोर पा कर रो पड़े तो हम उनमें फिर से बराबरी की भावना जगाने के लिए एक का तात्कालिक ...

Lokpriy ...